Identity Politics

भारत में लोकतन्त्र पहचान के हिसाब से मौसम की तरह बदलता रहता है l यदि आप हिन्दू है तो मौसम का मिजाज आप के लिए रूखा रहेगा और गैर-हिन्दू होने पर हरा-भरा । अभिव्यक्ति की आज़ादी खतरे में इसलिए नहीं है की किसी विशेष वर्ग को बोलने नहीं दिया जा […]

हेरिसन मेडिसिन पुस्तक हिंदी में, शक्य है?

(मेरा मूल लेख गुजराती में था, यह इसका हिंदी अनुवाद है. चिक्तिसा शास्त्र से तालुक न रखने वाले वाचकों की जानकारी हेतु- ‘हेरिसन मेडिसिन’ चिकत्सा-शाश्त्र की एक विश्व-विख्यात पाठ्यपुस्तक है, जिसको ‘चिकत्सा-शास्त्र की बाइबल’ की उपाधि भी प्राप्त है.)   कल्पना कीजिए, ‘चिकित्सकों की बाइबल’, ‘हेरिसन मेडिसिन’, बजाय बाइबल के, […]

Atal Chirantan Smritika

मौत की उमर क्या है? दो पल भी नही, जिन्दगी सिलसिला है,आज कल की न्हीI.                                                                                      -श्री अतल बिहारी वाजपेयी   Late Shri Atal Bihari Vajpayee was a human with extra ordinary abilities and candour and an international leader, transcending all limitations to earn reverence, even from his adversaries. His contribution […]