Category: Blog

युवा शक्ति के दायित्व के प्रति उदासीनता

स्वामी विवेकानंद, एक ऐसा नाम जिसे भारत और हिंदुत्व को पहली बार विश्व पटल पर स्थापित करने का श्रेय दिया जाता है, जिसने गुलाम भारत की सपेरों और तांत्रिकों वाली छवि को अपने ओजस्वी व्यक्तित्व तले दबा दिया और जो आज तक युवाओं के लिए उत्कृष्ट प्रेरणास्रोत है। केवल 39 […]

ढांचे की आत्मा

रविवार का दिन, इम्तिहान समाप्त हो चुके थे तो शाम में कुछ करने को ज्यादा था नहीं। आश्रम से आ चुके थे और सूर्य भी ढलने को आ रहा था, काफी समय हो चला था तो सोचा आज चर्च होकर आया जाए। वस्त्र बदलने की ज़रूरत थी नहीं, कुर्ता सही […]